वज़न बढ़ाने के उपाय

वज़न बढ़ाने के उपाय (Ayurvedic Weight-Gain Tips In Hindi)

आज के समय में जहाँ हर कोई वज़न घटाने में लगा हुआ है, वहीं कुछ लोग अपने वज़न को बढ़ाना चाहते हैं. और वज़न घटाने की जद्दोजहद में लगे हुए ज़माने में वे अपने आपको बहुत अकेला और साधन हीन पाते हैं. एक स्वस्थ और संतुलित तरीके से वज़न को बढ़ाना उतना ही मुश्किल है. आयुर्वेद में प्राकृतिक वज़न आपकी दोष और निजी प्रकृति पर निर्भर करता है. हल्की कदकाठी वाले मनुष्य का वज़न कम ही होगा. यदि आप अपना वज़न बढ़ाना चाहते हैं, चाहे वह किसी विशेष घटना के कारण घटा हो अथवा आप पहले से ही कम वज़न वाले हैं, आयुर्वेद के विधान के अनुसार आपका वज़न एक समग्र, विशिष्ट और सकारत्मक रूप से किया जा सकता है. शरीर की अग्नि को पुष्ट करते हुए एक पुष्टिवर्धक भोजन लेना अत्यंत आवश्यक है. यदि खाया हुआ भोजन लगे ही ना तो भी व्यक्ति का वज़न बढ़ता नही है. आयुर्वेद के अनुसार चलने से आपको वह लाभ मिलेगा जो आपको अन्य रूप से वज़न बढ़ाने से नही मिल सकता.
शरीर की अग्नि को पुष्ट करते हुए एक पुष्टिवर्धक भोजन लेना अत्यंत आवश्यक है. यदि खाया हुआ भोजन लगे ही ना तो भी वयक्ति का वज़न बढ़ता नही है. आयुर्वेद के अनुसार चलने से आपको वह लाभ मिलेगा जो आपको अन्य रूप से वज़न बढ़ाने से नही मिल सकता. वात की विकृति के कारण शरीर का वज़न बहुत कम हो जाता है. वात के कारण लंघन और हलकेपन का अहसास आता है. जब अधिक वात के कारण इंद्रियों और शरीर अधिक सतर्क स्थिति में रहते हैं, उस समय शरीर को पुष्टि प्रदान करना और भी कठिन हो जाता है.weight gain ayurveda hindi tips
आयुर्वेद के अनुसार वात को नियंत्रित करने के लिए और शारीरिक कमी को पूरा के लिए उपाय करना आवश्यक है. कुछ क्रियायों के करने से वात शांत होने लगता है. वात शांत करने के लिए प्राणायाम का अभ्यास विशेष कर नाड़ी शोधन का अभ्यास अत्यंत उपयोगी है.
भोजन को नियमित रूप से न लेना वात को बढ़ाने में सहायक होता है. निर्धारित समय पर भोजन को लेना वज़न और सेहत को मज़बूत रखने में अत्यंत सहायक है. खाते समय पूरा ध्यान भोजन पर ही रखें. जब आपका भोजन पूरा हो जाए तो कुछ लंबे, गहरे श्वास भर कर संतुष्टि का अनुभव करें. इस बात को चिंतन में लाएँ कि आपका भोजन पूर्ण रूप से पच कर शरीर में जसप हो रहा है. यह समझना चाहिए कि परिसंचरण तंत्र (circulatory system) हर कोशिका को पूर्णतयः पुष्टि प्रदान कर रहा है.


वात को शांत करने वाला भोजन (Vaat-pacifying Diet For Weight Gain In Hindi)

वात को शांत करने वाला भोजन करना लाभदायक है. वे भोजन जो खाने में गरिष्ठ, नरम  और पुष्टिदायक हैं उनका  प्रयोग अधिक करें.
खाने में तिल तेल का प्रयोग, देसी घी, जैतून का तेल और सूरजमुखी के तेल का प्रयोग अधिक करें. उस भोजन का चुनाव करें जो स्निगध, गरिष्ठ, नमी-युक्त हों.
मीठे, खट्टे और नमकीन भोजन का सेवन अधिक करें. कड़वे, कसाले और कशाय भोज्य पदार्थों को न खाएँ. कंद, मूल फल, अन्न, दालें इनका सेवन अधिक करें.
5-6 खजूर लेकर उनमें से बीज निकाल लें और इन पर गर्म घृत डालें. जब यह जम जाए, तो दो इस प्रकार की खजूरों का प्रातः काल में या फिर बीच में किसी भी समय पर करें. भीगे, छीले हुए बादाम, काजू का सेवन करें, खजूर से बने शेक का सेवन भी किया जा सकता है. आलू का मीठा हलवा खाना भी लाभदायक है.
Dates weight gain tip ayurveda hindi
शरीर में पानी की कमी नही होने देनी चाहिए.

  • दिन की शुरुआत में 1 से 4 गिलास पानी पीने से शरीर में नमी का संचार रहता है और इससे पाचक शक्ति भी मज़बूत बनती है. बाकी सारा दिन कुनकुना पानी और हर्बल चाय का सेवन अवश्य करें.
  • इसके अलावा आधिक श्रम वाले कार्य और वात को बढ़ाने वाली कसरत भी अवश्य करें. सूर्य नमस्कार का अभ्यास करना अत्यंत हितकर है. अगर आप अभी ज़्यादा कसरत नही करते हैं, तो किसी भी प्रकार की कसरत को धीरे-धीरे ही अपनी दिनचर्या में लाएँ. यदि आपको उससे पाचन में वृद्धि और सकारात्मक नतीजे मिलें तो आप इसे धीरे-धीरे बढ़ाएँ.
  • आयुर्वेद में अनेक औषधियाँ है जिनसे भोजन के पाचन, पोशक तत्वों के जस्प करने में सहायता मिलती है.
  • अश्वगंधा ऐसा रसायन है जिससे शरीर में वात में कमी आती है और दूध और घृत के साथ इसका सेवन करने से वज़न बढ़ाने में बहुत अच्छे लाभ मिलते हैं.
  • शतावर के प्रयोग से शरीर में सात्विकता बढ़ती है और यह अध्यात्मिक विकास करने में भी सहायक औषधि है. यह स्निगध, ठंडा, बलदायक रसायन है मानसिक शांति और शारीरिक बल मिलता है.
  • च्यवन्प्राश का सेवन सर्वथा उपयोगी है. इसमें मौजूद आमला से पुष्टि और बल मिलता है. 1 से 2 चम्मच हर रोज़ सेवन करना सर्वथा उचित है.
  • त्रिफला का प्रयोग भी अत्यंत लाभदायक है. इससे शरीर को पुष्टि मिलती है और यह अंतडियों से विषैले पदार्थ निकालने में सहायक है.

वज़न बढ़ाने के लिए कुछ घरेलू प्रयोग (Home Remedies To Increase Weight In Hindi)

  • 6 अंजीर लीजिए. साथ में 30 ग्राम किशमिश लें. इन दोनों को रात भर भिगो कर रखें. सुबह उठते ही इनका सेवन कर लें.
  • 1 ग्राम अश्वगंधा और उसमें 1 चम्मच घी मिश्रित करें. रात को सोने से पूर्व इसमें शकर डालकर सेवन कर लें.
  • 1 पका हुआ आम लेकर उसका सेवन करें. इसके पश्चात 1 गिलास दूध पी लीजिए.